Palamu Latehar Gadhva declares Hazaribagh district for 12 hours


पलामू लातेहार गढ़वा हजारीबाग जिला को 12 घंटे के लिए बंद का किया एलान 
हर्ष सागर /चतरा

 10 जून को  टीपीसी ने चतरा     पलामू लातेहार गढ़वा हजारीबाग जिला को 12 घंटे के लिए बंद का किया एलान *

हे कर्म वीर का.पवन जी का. अमरजित जी का.चँदन जी सदा अमर रहे ।

पुलिश मुठभेड़ से बिचिलित हुए टी पी सी

आए हम सभी संम्पीर्त साथियों एवं आम जनताओ ,इस दूख कि घडी मे वीर शहीद साथियों के आत्मा कि सान्ती के लिए दो मिनट का मौन धारनकरते हुवे ,इनकी अधुरी सपनों को पुरा करने हेतू ,सपथ लेकर आगे बढे

बिगत   28   मई  2018         को ,जिला पलामू थाना छतरपुर कालापहाड गांव दुबटिया
हिसाक मे ,सुबह दस बजे खाना खाँ कर गांव कि बगल आम महुआ पेड के निचे छाह में  आराम कर जनता कि जन समस्या सुलझा रहे थे ।

ठिक इसी बिच 11,30 बजे दिन मे ,चारो तरफ से घेर कर पुलिस ने साथियों पर गोली कि बौछार कर दिया गया ।इसी दरबयन मे ,हमारे तिन साथियों को गोली लगने  से शहीद हो गए ।

और एक घायल समेत तिन साथियों का आरेसट कर लिए गए।सोनु कुमार गांव रबरी ,ललू सिंह हरीहरगंज, बिकाश पासवान गांव डेरा जपला।
हमारे शहीद का.पवन गझुं गाँव लोहरी तरी थाना लावालौंग जिला चतरा का निवासी, का.अमरजित पासवान गांव लरबानधवा थाना पाटन जिला पलामू का निवासी, का. चंदन यादव गांव कबिशा रामना                           जिला गढ्वा का निवासी है।
माता, पिता ,भाई, बहन ,पत्नी ,बच्चों,आम जनता कामरेडों से सदा ,सदा के लिए कुरुर दुशमन पुलिस प्रशासन छीन लिए।इन वीर शहादत साथियों का शोकाकुल मे सध्रांजली आर्पित कर इस घटना को तिब्र निन्दा
करते हुवे,दिनांक 10,जुन 2018,को चतरा पलामू लातेहार गढ्वा हजारीबाग जिला ,12,घंटा बंद का आह्वान करते हैं।
इसे आम आवम सफल बनावे, मरजनसी वाहन दुध एमबूलेनस पत्रवाहक वगैरह छुट रहेगी।

झारखंड पुलिस प्रशासन को ,हम बता देना चाहते है ,कि आप हमे मजबूर व बेवश कर रहे है,
मरता कया नहीं करता ?

आप लोग खुसी मे फुले नहीं समा रहे है।
जब यहां क्रांति कारी शोषित उतपीडीत जनता सुसंगठित हो कर भाकपा माओवादी को खदेड़ सकता हैं, तो क्या पुलिस प्रशासन अहिंसा व सांती के बात कर हिसंक बनेगी ,तो इन्हें भी जबाब दिया जयगा।

हमें भी युद्ध निती रन कौशल आता  है,गोली चलाना एमबुस करना बारुदी सुरंग बिछाना इत्यादि।

पुलिस व सरकार बात चित्त के जरिए सुलझाने की झुठी डिगं हाकते हैं, दुसरी तरफ हिसंक कि रास्ता चुनते हैं

टी.एस.पी.सी .संगठन कि कोई कशुरवार नही है।दुनिया जानती हैं ,यह संगठन आत्म राक्षात करने के लिए बनी हैं

।2004,5,ई0मे भाकपा माओवादी द्वारा पुलिस दलाल (आर.सी.सी.)कह कर के चतरा, पलामू क्षेत्र मे धडल्ले निर्दोष गरीब जनता कि हत्या हो रही थीं।उस समय पुलिस प्रासाशन र्थरर्रा रही थी।तब जा कर पुलिस प्रासाशन कि निर्देश पर यहां कि दबे कुचले गरीब निरीह जनता सहयोग कर लडने कि उतेजित किया गया।और पुलिस प्रासाशन फैदा उठाया ,तथा आपना नाम कमाया हैं।इस भाकपा माओवादी के लडाई मे ,सैकडों कि तदाद मे ,कुर्बानी देनी पडीं ,


आज सरकार व प्रासाशन  उस परीवार को कुछ नही दिया ,इसका जिमेवार आज भी पुलिस प्रासाशन हैं।

और कहावत है ,पेड मे चढा कर निचे से ,छेऊ मार रहे हैं, यह एक दोगला निती नही,तो क्या हैं।


 वर्तमान सरकार द्वारा सभी तरह कि सडयंत्र कर बडे कंपनियों कारपोरेट घरानो के मिली भगत से सभी जांच एजेंसियां ,ईडी ,एन.आई.,सी.आई.डी इत्यादि बिभाग को एकटीब किया जा रहा हैं, झारखण्ड कि जनता को लुट दोहन करने लिए।साथ साथ आगले चुनाव जितने के लिए,बडे लोगों को बिदेशो मे कला धन बचाने के लिए।हम मांग करते है,सभी दम  नात्मक   निती को अभीलम्ब बंद करे।तथा भाकपा माओवादी के संघर्षों मे  सैकडो लोगों कि जान गई हैं, उस गरीब अनाथ बच्चे पत्नी परीजनों को सरकार एवं प्रासाशन ।द्वारा नौकरी, शिक्षा,  चिकित्सा, जिने के लिए ,20 बिघहा जमीन दिया जाई ,और उस परिवार जनों को सुरक्षा मुहैय्या कराया जाई,(टी.एस.पी.सी.)संगठन बिकास कि  बाधक    नही ,बल्कि संपुर्ण बिकाश चाहती हैं ,इन्हें जान बुझकर गलत कदम
उठाने का मजबुर ना करे, इसे बिचार कर रास्ता निकाले।

                  निवेदक
   चतरा, पलामू, पलाटुन कमांडर 
                   अजय

             टी.एस.पी.सी.




Related Posts
Previous
« Prev Post

Fantasy Girls